पंजाब : गैंगस्टर डोगरा की हत्या के मामले मे 5 गिरफ्तार

पंजाब : गैंगस्टर डोगरा की हत्या के मामले मे 5 गिरफ्तार

6 हथियार, 71 कारतूस और 4 गाड़ियां बरामद

मोहाली : पुलिस ने एयरपोर्ट रोड पर सेक्टर-67 सीपी-16 शॉपिंग मॉल के सामने जम्मू के गैंगस्टर राजेश डोगरा उर्फ मोहन की गोलियां मारकर हत्या करने वाले 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपियों से 6 हथियार, 71 कारतूस और 4 गाड़ियां बरामद की हैं। आरोपियों की पहचान अनिल उर्फ बिल्ला वासी जम्मू एंड कश्मीर, हरप्रीत सिंह उर्फ प्रीत वासी यूपी मेरठ, सतवीर सिंह उर्फ बब्बू, संदीप सिंह उर्फ सोनी दोंनो वासी फ़तेहगढ साहिब और श्याम लाल वासी जम्मु एंड कश्मीर के रूप में हुई है।

एसएसपी संदीप गर्ग ने बताया कि आरोपियों को पकड़ने के लिए डीएसपी गुरशर सिंह संधू की अगुवाई में टीम बनाई गई थी। पुलिस ने आरोपियों को युपी से गिरफ्तार किया है। मृतक राजेश डोगरा के खिलाफ जम्मू कश्मीर में करीब 16 मामले दर्ज है। जिनमे हत्या के केस भी शामिल है। वर्ष 2006 में उसने बकरा गैंग के मुखिया की हत्या की थी। वह वर्ष 2023 में जेल से बाहर आया था।

बकरा गैंग के मुखिया की हत्या करने के बाद अगला मुखिया अनिल उर्फ बिल्ला को बना दिया गया। उसी का बदला लेने के लिए अनिल ने राजेश डोगरा की हत्या की प्लानिंग रची। आरोपी अनिल के खिलाफ हत्या के कुल 8 केस दर्ज हैं और वह जम्मू कश्मीर में प्रॉपर्टी का काम करता है।

मृतक राजेश डोगरा ने अयोध्या के लिए जाना था। जिससे पहले वह अपने दो दोस्तों के साथ मोहाली में आया था। जहां तीसरे दोस्त संदीप सिंह राजा ने भी आना था। संदीप ने राजेश डोगरा की लोकेशन बकरा गैंग के मुखिया अनिल को दे दी। बकरा गैंग के मुखिया की हत्या करने के बाद अगला मुखिया अनिल उर्फ बिल्ला को बना दिया गया। उसी का बदला लेने के लिए अनिल ने राजेश डोगरा की हत्या की प्लानिंग रची। आरोपी अनिल के खिलाफ हत्या के कुल 8 केस दर्ज हैं और वह जम्मू कश्मीर में प्रॉपर्टी का काम करता है।

इसके बाद मोहाली में आकर गैंग के सदस्यों ने राजेश डोगरा की हत्या कर दी। पुलिस को आरोपियों के पास से जो हथियार मिले हैं ,उनमें से कुछ लाइसेंसी हथियार भी हैं। जिनको जम्मू कश्मीर से जारी किया गया है, लेकिन जांच करने पर पता चला कि वह एड्रेस जाली है। इसी तरह चंडीगढ़ का नंबर जिस इनोवा गाड़ी पर लगा था वह एड्रेस भी नकली निकला।

एसएसपी संदीप गर्ग ने बताया कि इस हत्याकांड मे शूटरो को एक करोड़ से ज्यादा खर्च दिया गया था। आरोपी हत्या से एक दिन पहले ही मोहाली में पहुंचे थे।इस मामले में कुल 8 शूटर थे। जिनमें से 3 अभी भी फरार है। जिनकी तलाश की जा रही है। आरोपी अनिल ने उत्तराखंड, पंजाब, जम्मू, और हरियाणा से शूटर हायर किए थे।

Share