मंत्री समूह के आदेशों के अनुसार पजाब में सभी मॉल, किसान मंडी और म्सूजि़यम 31 मार्च तक रहेंगे बंद

धार्मिक संस्थान एवं डेरा प्रमुख अपनी धार्मिक सभाएं करेंगे स्थगित
रेहड़ी वाले गलियों में बेच सकेंगे सब्जि़यां…

मैरिज पैलेसों को 50 से अधिक लोगों को एकत्रित न होने देने के आदेश…

चंडीगढ़: कोविड-19 के फैलाव को रोकने के लिए भारत सरकार से प्राप्त एडवाईज़री के मद्देनजर आज मंत्री समूह ने लोगों के ज्यादा संख्या में एकत्रित होने को रोकने के लिए और कड़े कदम उठाए हैं। स्थानीय निकाय मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा की अध्यक्षता में हुई मंत्री समूह की बैठक ने सभी धार्मिक संस्थानों, डेरा प्रमुखों को एडवाइजरी जारी करके अपनी धार्मिक सभाओं को स्थगित करने के अलावा सभी शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, मॉल, म्यूजियम, स्थानीय साप्ताहिक किसान मंडियों को 31 मार्च, 2020 तक बंद करने के निर्देश जारी किए हैं।
भारत सरकार द्वारा जारी की गई एडवाईज़री पर अमल करते हुए मंत्री समूह ने मैरिज पैलेसों में आयोजित होने वाले विवाह समारोहों में लोगों की संख्या को सीमित करने का भी निर्णय लिया है। यह सुनिश्चित करने के लिए सभी उपायुक्तों को निर्देश जारी किए गए हैं कि मैरिज पैलेसों में किसी भी समारोह में 50 से अधिक व्यक्तियों को एकत्रित न होने दिया जाए। इसी तरह उपायुक्त यह भी सुनिश्चित करेंगे कि सभी रेस्तरां, होटल, ढाबे और फूड कोर्टस अपने यहांं हैंड वॉशिंग प्रोटोकॉल लागू कर रहें हैं तथा व्यक्तियों और टेबलों के बीच 1 मीटर की दूरी सुनिश्चित करने के अलावा बार-बार छुए जाने वाली सतहों की उचित सफाई कर रहे हैं।
राज्य में सभी शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और मॉल तथा सिनेमाघर 31 मार्च तक बंद रहेंगे जबकि मॉल्स में केमिस्ट और किराने की दुकानें खुली रहेंगी। इसी तरह राज्य में सभी स्थानीय साप्ताहिक किसान मंडियों को एक स्थान पर बड़ी संख्या में लोगों के एकत्रित होने को रोकने के लिए बंद कर दिया गया है। मंत्री समूह ने रेहड़ीवालों को जनता की सुविधा के लिए गलियों में सब्जियां बेचने की अनुमति दी है।
मंत्री समूह ने परीक्षाओं को स्थगित करने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग और अन्य निजी शिक्षण संस्थानों के प्रशासनिक इकाईयों को भी निर्देश दिए हैं। यदि परीक्षाओं के आयोजन की सख्त आवश्यकता है, तो वह विशेष संस्थान और स्कूल जिला प्रशासन को सूचित करेंगे और यह भी सुनिश्चित करेंगे कि दो छात्रों के बीच एक मीटर की दूरी बनी रहे।
मंत्री समूह ने राज्य में वर्तमान स्थिति की समीक्षा की और महत्वपूर्ण स्थानों पर निर्धारित दवाओं की उपलब्धता और मैडिकल व पैरा मेडिकल स्टाफ की तैनाती का जायज़ा लिया। मंत्री समूह ने इस तथ्य पर गंभीर विचार व्यक्त किया कि कोविड-19 ने यूरोप को ठहराव की स्थिति पर लाकर खड़ा कर दिया है और यूरोप के सभी व्यावसायिक, शिक्षा, धार्मिक संस्थानों को बंद कर दिया गया है।
इस बैठक में मंत्री समूह के सदस्य जिसमें ओम प्रकाश सोनी, तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा, रजिया सुल्ताना, बलबीर सिंह सिद्धू, विजय इंदर सिंगला और भारत भूषण आशु शामिल हैं के अलावा करण अवतार सिंह, मुख्य सचिव,अनुराग अग्रवाल, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, डीके तिवारी, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान, मनवेश सिंह सिद्धू, एमडी पीएचएससी, भूपिन्दर सिंह निदेशक स्थानीय निकाय विभाग और डॉ. अवनीत कौर निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *