राजस्थान: आधुनिक जीवन में मोबाइल हमारे जीवन का अभ्भिन अंग बन गया है। कई बार इस बात पर भी बहस चलती रहती है कि कार्यस्थल पर मोबाइल फोन का किस स्तर तक इस्तेमाल होना चाहिए। अब राजस्थान के स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा कि मोबाइल फोन एक ‘बीमारी’ बन गया है और शिक्षकों को इसे स्कूलों के अंदर ले जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। 

मंत्री ने अपने बयान में कहा कि शिक्षा विभाग पिछले आदेशों को लागू करने का प्रयास कर रहा है और स्कूलों में माहौल सुधारने के भी प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि विभाग का प्रयास है कि कोई भी शिक्षक प्रार्थना के बहाने स्कूल छोड़कर न जाये। उन्होंने कहा, ‘स्कूल के अंदर कोई भी मोबाइल फोन नहीं ले जाएगा। अगर वे गलती से भी ले जाते हैं तो उन्हें इसे प्रिंसिपल के पास जमा कराना होगा।’